Bhai Bahan Chudai Chapter-2 भाई बहन की चुदाई कहानी

हेलो दोस्तों आप भाई बहन की चुदाई कहानी chapter 1 में पढ़े की कैसे बहन ने अपनी चूत को अपने भाई से चटवाई और चुसाई। …

यदि आपने मेरी कहानी का chapter 1 नहीं पढ़ा तो जरूर उसे पढ़े….

भाई बहन की चुदाई कहानी chapter 2…

घर में भाई के साथ चुदने लगी तो उस समय मेरे बड़े भैया डर की वजह से अच्छी तरह से छोड़ नहीं पाये थे, क्योकि उन्हें डर था की कोई घर में उन्हें चुदाई करते समय देख न लें |

कॉलेज खुल गया और घर में मुझे चोदने के लिए विजय भैया के पास समय नहीं मिल पा रहा था |

कॉलेज का बहाना बनाकर भैया के साथ हम दोनों घर से बहार कही दुसरे जगह चले आये |

कुछ देर बाद सबसे पहले दिमाग में एकआइडिया आया की चुदने के लिए सबसे बेहतर OYO, यहाँ पर कोई रोक टोक भी नहीं और मजे से चुद पाऊँगी, अच्छे बिस्तर और गद्दे अच्छी तरह के मिलेंगे, जिसकी मदद से चुदने में आसानी होगी और ज्यादा पैसे भी नहीं लगेगा और चुदाई का काम भी हो जायेगा। …

विजय भैया से मैंने कहा आप OYO रिज़र्व कर लो सस्ते दाम में हो जायेगा |

दोनों रूम बुक करके होटल में चले गये, रूम में घुसते ही मैंने विजय भैया के गोद में चली गई और वो गोद में पकड़कर बेड पर ले गए, जब मई भैया की गॉड मइ पड़ी तो मजबूती से उन्होंने पकड़ लिया और किस्स करना शुरू कर दिया, हम दोनों देर तक एक दूसरे के मुँह में मुँह लगाकर किस्स करते रहे, किस्स करने से दोनों में उत्तेजना की मात्रा बढ़ती है और सेक्स करने की इच्छा होती है और रूचि बढ़ती है | कभी भी सीधे सेक्स नहीं करना चाहिये, क्योंकि सेक्स मजे के लिए करते इसलिए सबसे पहले दोनों फ्री होके एक दूसरे को किस्स करे, इससे अपनापन का एहसास होता है |

 

यह कहानी आप hotsexystories.in  पर  पढ़ रहें हैं।

 

किस्स करने के बाद उससे रहा नहीं गया तो उसने मेरे कपड़े निकल दिया और मेरे बड़े चूचे को दबाना शुरू कर दिया, जब वह चूची को मुँह में ले रखा था, उस समय मेरे चूतड़ को भी दबा रहा था, शायद उसे मजा आ रहा हो |

जब भैया ने मेरी कपडे को खोला तो मुझे देखकर शेर की तरफ झपट पड़ा जैसे कोई हिरन पर कोई शिकारी हमला बोलता है |

जब दोनों बेड पर थे तभी मेरी हाथ अचानक विजय भैया की अंडरवियर में चाली गई, और मेरे हाथ को महसूस हुआ की कोई बड़ी मछली हाथ लग गई है, पर ये तो विजय भैया की मोती और लम्बी लैंड थी, जिसकी खातिर मेरा छूट बेचैन था की कब ये मेरा दर्शन करेगा |

इतने दिनों के बाद लंड हाथ में पाकर बहुत खुशी मिल रही थी, कॉलेज के दिनों की मस्तियां यद् आने लगी, मुझे लंड को देखकर बहुत अच्छा लग रहा था, विजय भैया चूची को दबाकर खूब मजे ले रहे थे, क्योकि ये मौका उन्हें बड़े दिनों के बाद मिला था, अब मई पूरी तरह कमरे में नंगी हो गई और वो मुझी एकटक लगाए देखने लगे, मैंने अपनी भरी जवानी को मजा दिया |

विजय भैया जब मेरी चूत में हाथ फेरने लगे तो मेरे अंदर की उत्तेजना बढ़ने लगी, मैं और उत्तेजित हो चुकी और वो मेरी चूत को गीला करने के लिए चाटना शुरू कर दिया और अब मुझे अलग ही मज़ा आ रहा था मुझे बूर को चटवाना अच्छा लगा रहा था जिसप्रकार से भैया चूत को चाट रहे थे |

शायद लड़को को बूर चाटना अच्छा लगता होगा इसीलिए वो बूर को बड़े मजे से चाटते थे जैसे कोई नारियल पानी निकाल रहा हो और मेरे भीतर से पानी को निकालकर ही मानते थे, जब तक ऐसा नहीं हो छोड़ते नहीं थे, बड़े बूर चाटू किसम के व्यक्ति थे, आज ये बात मुझे मालूम चला, जब नारियल पानी बहने लगा |

उनको बूर चाटने से अब रोकने के लिए मुझे उनका लंड चूसना पड़ेगा, तभी वो मेरी बूर चाटना बंद करेंगे, नहीं तो पुरे दिन होटल में बूर चाटने में ही निकल देंगे और मई उनके लम्बे, बड़े, लंड से चुद नहीं पाऊंगी और समय ख़तम हो जायेगा, मैंने उनसे कह डाला अब बहुत बूर को चाट लिया अब अपने लम्बे घोड़े जैसे लंड का स्वाद मुझे चखा दो…

इतना सुनते ही बड़े भैया ने फटाक से बैग में से कंडोम निकालने लगे, जब वो कंडोम लगाने के लिए मुझे दिया तो अचानक मेरे दिमाग में न जाने क्या सुझा की मैं उनके बड़े लंड को अपने मुँह में पूरा भर लिया, और लंड को मुँह में भरकर चूसने लगी, ऐसा करने से उन्हें बहुत आंनद था जब उनकी ताड़ जैसी लम्बी लंड को चूस रही थी तब |

मुझे पहली बार थोड़ा अजीब लगा क्योंकि ये पहली बार मुँह में ली थी, किसी भी गैर पुरुष का लंड मुँह में नहीं लिया था, कुछ देर के बाद में मुझे भी अच्छा लगने लगा, और मैं एन्जॉय करने लगी |

विजय भैया को भी अपना लंड चुसवाने में मज आने लगा, वो भी मन में शायद सोच रहे होंगे की मेरी बहन कितनी चुदकड़ है, ये तो सालों से लंड की प्यासी हैं इसीलिए मेरा सारा मलाई चूस जाना चाहती है |

10 मिनट तक भैया टिके रहे उसके बबाद पूरा मलाई जो कई दिनों,महीनों, सालों से बचा कर रखा सारा निकाल दिया, वो भी सोच होंगे की न जाने फिर कब मौका मिले। …

मलाई झड़ गया तब दोनों थोड़ा शांत हुये और फिर किस्स करने लगे, मैं उनके लंड को सहलाने लगी, ताकि फिर से खड़ा हो जाये और मज़ा लेना शुरू करे…

जब मरे चूचियों से खेलना आरम्भ किया तो फटाक से लंड खड़ा हो गया, उन्होंने मेरे हाथ में कंडोम की थैली दी और बोला पहले मेरे लंड को मुँह से चाटो, उसके बाद कंडोम की पैकेट को खोल के आराम से लंड के मुँह से लगाना आरम्भ करो |

जब कंडोम के साथ में लंड को लिया, उस समय खड़ा था, उसने पहली बार में पूरा लंड भीतर दे डाला , मेरी तो जान निकल गई, ऐसा लगा जैसे किसी ने मेरी प्यारी चूत में घोड़े का लंड दे डाला हो, मुँह से चीख़ तो निकली पर माज़ा भी बहुत आया….

कई महीनों के बाद स्वाद पके माँ बाग़ बाग़ हो गया, मेरे मुंह से सिसकारियां निकलनी चालू हो गई – आह्ह… आईई … आहह … आऊऊ … ओह्ह … करके मैं भाई के लंड से चुदने लगी…

विजय भैया पूरा दम लगाके झटका मार रहे थे और सरे शॉट बाउंड्री पार जा रहा था, उनके हर एक शॉट पहले से तेज होता जा रहा था, मई अपने ही हाथ से निप्पल को दबा रही थी, ये देखकर उन्होंने मेरा निप्पल दबाना शुरू कर दिया, निप्पाल दबाने से जोश बढ़ता है लड़कियों का |

भैया अब जल्दी जल्दी पेलने लगे, मेरी आँख बंद होने लगी थी, बड़े भैया से चुद के ला रहा था मनो स्वर्ग में किसी कामदेव से हूँ 15-20 मिनट के बाद दोनों झड़ गये, इतने खूब चुदाई हुई, जितने दिनों से नहीं चूड़ी थी सारा कोटा कम्पलीट हो गया |

इतना ही नहीं दोनों साथ में बाथरूम में गए, वह पर भी खूब रोमांस चला, बड़े इतने कामुक यथे एक बार फिर से मेरे मुँह में मलाई झाड़ दी और मेरी कुईया से भी पानी निकल माना, दोनों बहुत खुश हुए होटल में सेक्स करके, हम दोनों इतने दिनों के बाद एक अलग ही आनद का एहसास कर रहे थे |

नजाकत को देखते हुये घर पर वापस आना पड़ा और ये सबसे यादगार पल बन गया, जब भी सेक्स करने का मन करता दोनों मजे से खूब सेक्स, रोमांस करते थे |

 

कहानी के माध्यम से आप सभी को बताना चाहते है की, जितना कामुक पुरुष होते है, उनसे ज्यादा उत्तेजित औरत होती है. पुरुष को कभी भी जल्दी मलाई झाड़ने के चकर में चाहिये. हमें एक दूसरे को समझना चाहिए और कोशिश करे की दोनों संतुष्ट हो सके, तभी सेक्स का मज़ा ले पायेंगे |

मैं मन से अनिता को धन्यवाद रही थी की उसने भाई को पटाने का टिप्स दिया और अपने मिशन में कामयाबी पाई |

 

कोई कहानी भेजना चाहे तो भेज सकता है [email protected] पर

धन्यावाद |

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: