बोस और दीदी की सेक्स कहानी – Boss Aur Didi fuck story…

Boss Ne Didi Ko Chod Kar Promotion Story | बॉस तो केवल चोदेगा।कुछ भी पहना दो। दीदी बोली मुझे बहुत डर लग रहा है क्योंकि उसने कभी किसी लड़के के साथ चुदाई… Boss Aur Didi fuck story…

ये कहानी मेरी पूजा दीदी की चुदाई की है। उसकी उम्र 28 साल है और बूब्स गोल और बहुत बड़े है कि एक हाथ ने ना आ पाये।उसकी गांड बहुत चौड़ी है।एक बार 4 बूढ़ो ने उसको जमकर चोदा था। वही कहानी आप से शेयर करना चाहता हूँ। मेरी बहन “नाट्य लिमिटेड” नाम की कंपनी में काम करती थी और मैं भी उसी की कंपनी में जॉब करता था। Boss Ne Didi Ko Chod Kar Promotion Diya Sex Story…

पूजा के ऑफिस मे 2 बॉस और 1 उनका बूढा ड्राइवर और 1 नौकर था।जो 50 साल के करीब थे। सभी के प्रमोशन हुए पर दीदी और मुझको 4 साल से कोई प्रमोशन नही दिया गया।इससे दीदी बहुत दुखी रहती थी।मेरे दोस्त मुझसे कहते यार बुरा मत मान पर बॉस तेरी बहन के साथ भी वही करना चाहता है ,जो उसने शेफाली और निशा के साथ किया है। निशा और शेफाली को बॉस हर हफ्ते चोदता था । इस कारण उनको प्रमोशन भी समय पर मिलता था। शेफाली मेरी गर्लफ्रेंड भी थी तो सब कुछ जनता था । शेफाली बोलती थी कि जब तक अपनी दीदी को बॉस से नही चुदवा देता प्रमोशन भूल जा तो एक दिन शेफाली ने दीदी को बॉस से चुदाई के लिए तैयार कर लिया।शेफाली ने बॉस से बात की और बॉस मान गया।बॉस ने मुझे बुलाया । बॉस – राजेश तुम तैयार हो। अपनी बहन को चुदवाने के लिये।

मुझे बहुत गुस्सा आया लेकिन मैंने हाँ मे सर हिला दिया।बॉस बोला कि अपने बिज़नस पार्टनर विकास अग्रवाल के साथ संडे को आऊंगा।मैंने बोला सर लेकिन आप अकेले आने वाले थे। बॉस – अरे! राजेश मेरा अकेला का बिज़नस नही है। अग्रवाल साब हम दोनों पार्टनर है। हर काम मिलकर करते है और ये 20000 रुपए लो। अपनी दीदी को दुल्हन की तरह सजा कर रखना। मैं वहाँ से चला गया । सारी बात शेफाली और दीदी को बताया। शेफाली बोली की इन् पैसो से दीदी के लिये बॉस की पसंद की ब्रा और पैंटी के साथ एक ड्रेस भी खरीद कर सजाना है।शेफाली सब जानती थी। शानिवार को शेफाली सारा सामान लेकर घर आयी।दीदी केवल ब्रा पैंटी पहन कर बाहर आयी। ब्रा पर बहुत कम कपडा था। पैंटी पर चुत छुपाने भर कपडा था। शेफाली बोली कैसा है राजेश? मैंने कहा बॉस तो केवल चोदेगा।कुछ भी पहना दो। दीदी बोली मुझे बहुत डर लग रहा है क्योंकि उसने कभी किसी लड़के के साथ चुदाई नही की थी। शेफाली बोली तो चुदना सीख लो फिर वो दीदी के साथ ब्लू फिल्म देखने लगी।                              “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

तभी शेफाली गर्म हो गयी और बोली अभी तुम्हारे भैया से चुद कर दिखाती हूँ कि चुदाई कैसे होती है। शेफाली ने मुझे नंगा कर दिया और लण्ड को मेरी दीदी के सामने ही चूसने लगी। फिर मैं उसकी चूचियों से खेलने लगा और अपने ओठो से उसके बूब्स को रबर की तरह खीच कर चोदता रहा। फिर शेफाली ने दीदी से बोला- कुछ सीखा चुदाई कैसे होती है। कल तैयार रहना क्योकी वो मंझे हुए चुदक्कड़ है, तुझे तेरे भाई के सामने चोदेगे वो तुझे छोड़ेंगे नही। फिर शेफाली जोर से हँसने लगी और अपने कपडे पहन कर सोफे पर बैठ गयी। दीदी के चहरे पर साफ़ पसीना आ गया क्योकि ये उसकी पहली चुदाई थी। शेफाली बोली यार राजेश कल तेरी दीदी बहुत रोने वाली है ,ये तो डर रही है। मैंने पूछा तो क्या करे ।शेफाली बोली इसकी अगर आज चुदाई हो जाये तो इसका डर दूर हो जायेगा। मैंने दीदी से कहा अपने किसी बियफ़्रेंड को बुला ले लेकिन उसने कहा उसका कोई बॉयफ्रेंड नही हैं। हमारे पास केवल आज रात का समय था।शानिवार को शाम के 8 बज रहे थे। शेफाली बोली तुम्हारा नौकर भी तो है।मैंने कहा पागल हो नौकर रमेश से अपनी बेहेन को नही चुदवा सकता तभी दीदी बोली कोई बात नही रमेश को बुला लो। दीदी रमेश को अच्छा आदमी समझती है, वो दीदी से 18 साल बड़ा था।मजबूत शारीर और काला बदन।रमेश दीदी की कोई बात नही टालता था।                       “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

लेकिन मुझे पता था वो कितना बड़ा हरामी है।अपनी हर महीने की तन्खा से रंडी चोदने कोठे जाता और हमेशा दीदी के आस पास रहता था।उसने दीदी के बाथरूम में छोटा होल कर दिया था और वहाँ से कई बार दीदी को नंगा देख मुठ मारता। जब भी दीदी बुक को लेटकर पढ़ती तो उसकी गांड को देखता रहता।दीदी के बूब्स को झांक कर देखने की कोशिस करता। एक बार मुझे बहुत गुस्सा आया क्योकि एक बार हमारे घर की लाइट चली गयी और उसने माचिस ढूढ़ने के बहाने दीदी के बूब्स को जोर से दबा दिया ।दीदी ने सोचा गलती से दब गया होगा। रमेश से दीदी को कभी नही चोदते देख सकता था लेकिन मजबूरी थी और मैं रमेश को बुलाने गया और वो तुरंत आ गया। रमेश – जी साब!कुछ चाहिए क्या? शेफाली बोली रमेश आज तुम्हारी सबसे बड़ी इच्छा पूरी होने वाली है।अपनी मालकिन को आज जम कर चोदो । रमेश डर गया।वो माफ़ी मांगने लगा कि कभी दीदी से उल्टी सीधी हरकत नही करेगा। मैंने कहा ठीक है, कल तुम अपने गांव हमेशा के लिए चले जाओ।आज तुम दीदी को चोद कर कभी अपनी शक्ल नही दिखाना। रमेश दीदी को चोदने की बात सुन ख़ुश हो गया और बोला ठीक है साब। मैं और शेफाली सोफे पर बैठ कर पूजा को देखने लगे। फिर रमेश शरमाते हुई दीदी के साथ बेड पर बैठ गया।     

Boss Aur Didi fuck story

रमेश बहुत डर रहा था क्योंकी मैं वही बैठा था फिर उसने दीदी के दूधों को रगड़ना शुरू कर दिया और दूध को दांत से दबाने लगा जिससे दीदी की चीख निकल जाती और फिर वो 2 घण्टे तक दीदी को सीधा – उल्टा कर चोदता रहा और थक कर सो गया । दीदी और शेफाली भी सो गयी और मैं रात भर जगता रहा।रमेश रात को 6 -7 बार दीदी को सोते में चोदने लगता।दीदी केवल आआआ…….. की आवाज़ निकलती । रमेश की ट्रेन सुबह 6 बजे की थे उसने आखिरी बार दीदी को 5 बजे चोदा और 20 मिनट तक बूब्स से खेल कर चला गया और मैंने भी कुछ नही कहा। अगले सुबह दीदी और शेफाली तैयारी करने लगे । दीदी ने शाम 4 बजे से तैयार होना शुरू कर दिया।दीदी ने लाल रंग की साड़ी पहनी।शेफाली ने बेड को गुलाब के फूलों से सजा दिया। मैं दो बोतल दारू लेकर आया। शाम को दोनों बॉस अपने ड्राइवर और उनके नौकर के साथ घर पर आये।बॉस का मैंने और शेफाली ने स्वागत किया। बॉस ने कहा अरे! राजेश कहा है, मेरी बुलबुल। मैंने कहा दीदी अंदर आपका इंतज़ार कर रही है तो वो सीधा रूम में घुस गए।दीदी बेड पर घूघट में बैठी थी। बॉस बोले की जाओ ड्राइवर और मेरे पर्सनल नौकर को बुला लाओ । मै उन् दोनों को ले आया। बॉस ने कहा तुम दोनों यही बैठो और मज़े लो। मैंने कहा सर लेकिन आप ने केवल दो लोगो के लिए कहा था ।                               “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

यह कहानी आप  HotSexyStories.in  में पढ़ रहें हैं।

बॉस बोला अरे यार ये दोनों केवल अपनी बीवी को चोदते है।आज बोलने लगे ,सर क्या हम दोनों भी चोद ले तो अग्रवाल साब को दया आ गयी और उन्हों ने हां कर दी। मैं समझ गया दीदी आज चार से चुदवाने वाले है।मैंने दीदी और शेफाली को पूरी बात बताई तो शेफाली ने कहा आज की रात जो होना है हो जाने दो ।बस इतना याद रखना आज की रात के बाद तुम्हारी सैलरी 40000 हज़ार से डेढ़ लाख हो जायेगी।दीदी ने बेमन से ‘ठीक है’कह दिया। मेरे दोनों बॉस 45 और 50 साल के लगभग थे। मेरे बॉस ने कहा राजेश और शेफाली तुम लोग यही रूम पर रहना। कुछ चाहिए तो मंगवाना पड़ेगा। हम दोनों ड्राइवर और नौकर के बगल में बैठ गए। बॉस ने दीदी से कहा दारू बनाओ और दीदी ने दारू बनायी। गुप्ता सर ने दीदी से कहा गोद में बैठ जा। दीदी बैठ गयी फिर बॉस ने दीदी को पूरा नंगा कर दिया। दोनों बॉस और उनके ड्राइवर और नौकर की आँखे फटी की फटी रह गयी।दीदी को नंगा देख सब का लण्ड टाइट हो गया। ड्राइवर बोला राजेश बाबु तुम्हारी दीदी को आज जम कर ठोकूंगा।मै बस यही सोच रहा था बस आज की रात निकल जाये। बॉस ने पूरी बोतल दीदी के दूधों पर गिरा कर चाटने लगे।फिर ड्राइवर और नौकर दीदी के बूब्स को चाटने लगे। उन् सबका थूक दीदी के दूध पर लगा ।अग्रवाल सर ने हनी सिंह के गाने लगा दिए और दीदी से बोले नाचो मेरी जान।दीदी नंगे नाचने लगी ।                          “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

वो सब दीदी के हिलते बूब्स पर दारू डालकर चाट रहे थे। कुछ देर बाद सबने दीदी की चूत पर थूक कर उसको गिला किया और अचानक मुझसे बोले राजेश कंडोम तो भूल गए।तब बॉस ने 1000 रुपए दिए और कहा यार कुछ कमजोरी सी लग रही है। एक पत्ता वियाग्रा का भी ले लेना।तभी ड्राइवर बोला आज तेरी बहन गयी। मैं वियाग्रा और कंडोम ले कर आ गया और उन् सभी ने एक एक गोली खा ली। अग्रवाल सर ने दीदी को चोदना शुरू किया।ड्राइवर और गुप्ता जी दीदी को लण्ड चूसा रहे थे।नौकर सिर्फ दीदी के दूध पी रहा था। गुप्ता ने दीदी को उल्टा लिटा कर पीछे से चूत मारना शुरू किया। हर बार लण्ड लेते वक्त दीदी की सिसकिया अअअअ……ईईईईई……की जोर दार आवाज़े निकल रही थे। ड्राइवर और नौकर अपनी दो दो उंगली चुत में डाल कर दीदी का पानी निकाल रहे थी।             “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

सबने दीदी को चोदा फिर सब दीदी को बीच में लिटा कर सो गए।ड्राइवर और नौकर ने रात को बीच में उठ -उठ कर 4 -5 चोदा होगा। ड्राइवर तो दीदी के दूध को मुंह में दबा कर सो गया। सुबह मैंने सोचा बॉस अपने घर जायेंगे। लेकिन मुझे नही पता था।वो अभी और रुकेंगे।बॉस ने कहा यार तेरी बहन से मन नही भरा फिर 5 दिन तक वो मेरे घर पर रुके और दीदी को पांच दिन एक कपडा नही पहनने दिया।वो रोज़ बड़ी टीवी पर ब्लू फिल्म देखते और दीदी को भी उसी तरह चोदते।शेफाली भी 5 दिन तक वही रुकी। ड्राइवर और नौकर को दीदी के दूध पीने का मज़ा आता था।उन दोनों ने दीदी को खूब चोदा।                “Boss Ne Didi Ko Chod Kar”

बॉस 5 दिन बाद घर से गए। अगले दिन दीदी और मेरा प्रमोशन कर दिया। अब दीदी को पर्सनल कार और फ्लैट मिल गया। सभी दीदी को बधाई दे रहे थे और दीदी की चुदाई के किस्सों का मज़ा भी ले रहे थे। ड्राइवर और बॉस के नौकर ने सभी को दीदी की चुदाई की कहानी सुनाई थी। लेकिन सभी को दीदी की बात माननी पड़ती क्योकि वो एक हाई पोस्ट पर थी। ड्राइवर कभी कभी दीदी की चूचियों पर हाथ रख देता । 75 साल उम्र में भी उसका लण्ड खड़ा हो जाता था। कभी कभी ड्राइवर न होने पर दीदी को ऑफिस से घर भी छोड़ने आता और मेरे सामने ही दीदी के दूध निकाल कर पीने लगता। बॉस का सबसे खास आदमी होने के वजह से दीदी और मैं कुछ नही कहते। जिसका वो पूरा फायदा लेता। दीदी की चुत में उंगली डालता कभी दीदी के बूब्स दबाता। हम सोचते कब तक जीयेगा।नयी लड़की इसको अब कहाँ मिलेगा। इस तरह बॉस हर प्रमोशन पर लड़कियों को चोदता।

Boss Aur Didi fuck story

Leave a Reply

%d bloggers like this: