Devar Bhabhi ki chudai

Devar bhabhi ki chudai – bhabhi ki chudai to har kisi ke kismat me nahi hoti par badi bhabhi ki jawani ka ras chusna aur apna chusana… badi bhabhi ki chut aur gand me chod ke ke…

Devar Bhabhi ki chudai kahani…

हेलो दोस्तों, मेरा नाम प्रमोद है और मैं कोटा राजस्थान का रहने वाला हूँ। दोस्तों मैं एक बार फिर से आप सभी के सामने हाजिर हूँ अपनी एक और सच्ची कहानी लेकर और वैसे पिछली बार मैंने अपने घर के सामने रहने वाली मोटी आंटी की गांड मारने की घटना बताई थी और मैं आज जो घटना बताने जा रहा हूँ.. मैं उम्मीद करता हूँ कि वो पढ़कर आप लोगों के लंड रात भर पानी छोड़ते रहेंगे और अब मैं सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ।

दोस्तों यह घटना मेरी बड़ी भाभी की है.. बड़ी भाभी सिर्फ रिलेशन में ही बड़ी नहीं है बल्कि उनकी हाईट और शरीर का एक एक अंग बड़ा है। शरीर भी बहुत बड़ा है और सच कहूँ तो वो कामरूपी देवी हैं और भाभी का नाम शिल्पा है और उनकी उम्र 38 साल है.. उनके 2 बच्चे हैं और 15 साल के बच्चे होने के बाद से भाभी का शरीर तेज़ी से बढ़ा.. अभी उनका फिगर उनकी उम्र से भी ज्यादा हो चुका है. उनकी गांड 42 और बूब्स 40 के हैं और उनकी कमर 38 की है भाभी की हाईट 5.10 है और अब आप लोग अंदाज़ा लगा लो उनके कामरूप का.. कलर एकदम गोरा है और शरीर की बनावट ऐसी है कि जैसे हर वक्त सेक्स के लिए तैयार खड़ी रहती है.

अब मैं अपनी अब कहानी पर आता हूँ.. कुछ दिनों पहले भैया, भाभी अलग रहने चले गये और उनका बड़ा सा घर बना.. लेकिन जब से वो वहाँ पर शिफ्ट हुए हैं तब से मैं उनसे मिलने नये घर में नहीं जा पाया और भाभी ने बहुत बार मुझे बुलाने के लिए फोन भी किया और फिर एक दिन आखिरकार मैंने वहाँ पर जाने की ठान भी ली। मेरे भैया बिजनेस टूर पर रहते हैं और अक्सर रात में लेट आते हैं। यह बात मुझे पता थी और दोनों बच्चे स्कूल जाते हैं और शाम को 4 बजे तक आते हैं। मैं भाभी को सर्प्राइज़ देना चाहता था और मैं तो उनकी तरफ आकर्षित था ही और उनके साथ सोने के लिए बैचन भी था.. लेकिन मुझे मौका नहीं मिल पा रहा था। फिर मैंने सोचा कि मैं अचानक दिन में जाऊंगा तो भाभी घर पर अकेली होंगी और मैं उन्हें सर्प्राइज़ दूँगा। तो एक दिन मैं पहुंच ही गया और दिन के 2 बजे मैं सीधा उनके घर पर पहुंच गया और डोर बेल बजाई और छुप गया।

फिर भाभी आई और उन्होंने दरवाजा खोला बाहर देखा और मैंने साईड में से एकदम उन्हे डरा दिया.. वो गुलाबी कलर की मेक्सी पहने हुए थी एकदम टाईट.. वो डर गई और मुझे देखकर बहुत खुश भी हुई और वो बोली कि आज आखिरकार आपको टाईम मिल ही गया देवर जी। तो मैं मुस्कुराया और बोला कि अब अंदर भी बुलाओगी या यहीं से चला जाऊँ? तो वो बोली कि अरे ऐसे कैसे जाओगे.. आज तो आपकी खातिर होगी.. आप कभी पूरे दर्शन ही नहीं देते। तो मैंने कहा कि यार भाभी चलो अंदर गर्मी लग रही है और भाभी आगे चली और मैं उनके पीछे पीछे.. वो टाईट मेक्सी में क्या गांड मटका रही थी.. मन कर रहा था कि अभी खोलकर लंड डाल दूं और मेरा लंड तो मान ही नहीं रहा था।

मैंने उसे बड़ी मुश्किल से कंट्रोल किया और वो अंदर जाकर बोली कि आओ अंदर बेडरूम में बैठते हैं वहाँ का ऐसी चालू है.. इतनी देर से मैं वहीं थी। तो मैंने कहा कि जैसा आप कहें.. आज तो आपको पूरी खातिरदरी करनी है। तो वो बोली कि बिल्कुल ठीक कहा देवर जी.. आप तो ऑर्डर करें वो हाजिर हो जाएगा.. लेकिन उन्हे नहीं पता था कि मुझे क्या चाहिए? वो तो नॉर्मली कह रही थी.. लेकिन मुझे पता था उन्हें थोड़ी देर में क्या क्या परोसना पड़ेगा। तभी थोड़ी देर में गर्मी बड़ रही थी तो भाभी बोली क्या लोगे गरम या ठंडा? तो मैंने कहा कि क्या भाभी इतनी गर्मी में गरम पिलाओगी? तो वो बोली कि अरे तो तुम बताओ ना यार.. क्या चाहिए?

Devar Bhabhi ki chudai kahani…

फिर मैंने कहा कि नहीं भाभी कुछ नहीं चाहिए। तो बोली कि ऐसे नहीं चलेगा.. अच्छा रूको मैं कोल्ड ड्रिंक लाती हूँ.. तो मैंने कहा कि आपको पता है मैं कोल्ड ड्रिंक नहीं पीता। तो वो बोली कि अच्छा चलो ठंडा दूध बना दूं.. फिर मैंने कहा कि भाभी मेरा मन नहीं है यार और जैसे ही वो दूध बोली मैंने उनके बूब्स की तरफ देखा और उन्होंने इस बात पर ध्यान दिया।

फिर मैंने बोला कि अच्छा दूध पिला दो.. तो वो बोली कि अभी लेकर आती हूँ। तो मैंने कहा कि ठीक है ले आओ वो जल्दी से दूध ले आई.. लेकिन मेरा मन तो उनके बूब्स के दूध में था और मैंने जरा सा दूध पिया.. लेकिन मुझे उसका टेस्ट अच्छा नहीं लगा और मैं उसे लेकर बैठा रहा। तो भाभी बोली कि क्या हुआ? मैंने कहा कि यह दूध मुझे अच्छा नहीं लगा रहा है। तो वो मुस्कुरा दी और बोली कि फिर कौन सा दूध चाहिए देवर जी को?

तभी मेरे मुहं से एकदम से निकल गया कि आपका। तो वो यह बात सुनकर एकदम चकित रह गई और बोली कि क्या? तो मैं घबरा गया और मैंने जल्दी से वो बात चेंज कर दी और वो भी भूल गई। फिर वो मुझे घर दिखाने ले गई वो आगे आगे और मैं पीछे पीछे और मेरा सारा ध्यान उनकी गांड में था.. एक दो बार मैंने उनकी गांड छूने की कोशिश की.. लेकिन उन्होंने दूरी बना ली और जब वो मुझे बाथरूम दिखाने ले गई तो उनके बाथरूम में उनकी गीली पेंटी रखी थी और वो एकदम से उसको उठाने झुकी और मैं उनके पीछे से उनकी गांड से छू गया तो मेरा लंड पूरे मज़े में था।

फिर हम बेडरूम में आए और बैठ गए.. वो बोली कि यार तुम्हारी गर्लफ्रेंड कैसी है? तो मैंने कहा कि मेरी गर्लफ्रेड? तो वो बोली कि हाँ तुम्हारी। फिर मैंने कहा कि भाभी आपको पता है मुझे गर्ल्स अच्छी नहीं लगती फिर क्यों मज़ाक कर रही हो? तो वो बोली कि तुम्हे लड़कियाँ नहीं पसंद तो क्या औरत पसंद है? फिर मैं मुस्कुरा दिया तो वो बोली कि क्यों जवाब दो? तो मैंने कह दिया कि हाँ.. तो वो हंस पड़ी और बोली कि तुम भी आजकल बहुत मज़ाक करने लगे हो। तो मैंने कहा कि नहीं भाभी सच मुझे औरतें बहुत पसंद हैं आपकी उम्र की।

तो बोली कि पागल मैं तो मज़ाक कर रही थी.. लेकिन मैं मज़ाक नहीं कर रहा और भाभी मैं एकदम सच कह रहा हूँ.. मुझे ज्यादा उम्र की औरतें बहुत पसंद है। तभी वो बहुत चकित रह गई और बोली कि मैं तो मोटी और बूढ़ी भी होने वाली हूँ। तो मैंने कहा कि क्यों मज़ाक करती हो यार.. आप जैसी औरत जिसको मिल जाए उसकी किस्मत पलट जाए.. यह कहकर मैं उनके पास जाकर बैठ गया और उनसे बोला कि भाभी मैं आपसे प्यार करता हूँ और एक किस कर दिया और वो भी प्यासी थी.. मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी।

फिर मैं उनकी मेक्सी के बटन खोलने लगा और 2 मिनट में मेक्सी खोल दी.. तो मैंने देखा कि उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी और ना ही पेंटी.. मेरा लंड फूलकर टाईट हो चुका था और मैंने उनके बूब्स चूसने शुरू कर दिए और वो आहें भर रही थी और उनके मोटे मोटे 40 के बूब्स मेरे मुहं में थे और मैं उन्हें चूसे जा रहा था.. मैंने उन्हें चूस चूसकर लाल कर दिया था और उनकी नाभि चाटी और फिर उनकी चूत पर आया तो मैंने देखा कि उनकी मस्त बालों वाली चूत है।

Devar Bhabhi ki chudai kahani…

मैंने पूछा कि क्यों भाभी आप बाल साफ नहीं करती? तो वो बोली कि आज कल तुम्हारे भैया को टाईम ही नहीं मिलता और हमे सेक्स किए महीनो निकल जाते हैं। तो मैंने कहा कि धन्यवाद भाभी.. मुझे ऐसी चूत बहुत अच्छी लगती है और मैं उनकी चूत में घुस गया और बहुत देर तक उनकी चूत चाटी..

भाभी चिल्लाने लगी और कहने लगी कि आज फाड़ दो मेरी चूत.. मैं भी तुमसे प्यार करती हूँ.. मैं तुम्हारे बिना नहीं रह सकती प्लीज जल्दी से डाल दो और चोदो मुझे। तो मैंने कहा कि इतनी आसानी से नहीं डालूँगा.. तुमने भी इतने साल तड़पाया है और फिर मैंने उन्हे उल्टा होने को बोला.. तो वो पूछने लगी पीछे क्या है? तो मैंने बोला कि जन्नत है यार वहाँ तो। तो वो हंस पड़ी और वो उल्टी होकर लेट गई और मेरे सपनों की रानी मेरी भाभी की गांड मेरे सामने थी 42 की मोटी मोटी गांड.. मेरा लंड झटके मारने लगा और फिर मैंने भाभी की गांड खोली और गांड की दरार चाटने लगा।

मैं पूरी जीभ डालकर अच्छे से चाट रहा था। तो उन्होंने कहा कि देवर जी यह सब क्या आपको अच्छा लगता है? तो मैंने कहा कि भाभी यह तो जन्नत है और आज मैं आपकी गांड खा जाऊंगा। तो वो बोली कि आप तो पागल हो आपके भैया ने तो कभी पीछे नहीं किया.. लेकिन सच बात कहूँ तो बहुत मजा आ रहा है देवर जी। फिर मैंने कहा कि भाभी असली मजा तो तब आएगा जब मैं आपकी गांड फाड़ दूंगा।

Devar Bhabhi ki chudai kahani…

तो वो बोली कि अरे नहीं बहुत दर्द होगा.. आपका लंड तो 9 इंच का है.. आपके भैया का तो 5 इंच का है। यह मेरी गांड को पूरा फाड़ देगा। फिर मैंने कहा कि कुछ नहीं होगा.. बस एक बार थोड़ा सा दर्द होगा और फिर आप जिंदगी भर मुझसे गांड ही मरवाओगी.. इतना मजा आएगा मैं वादा करता हूँ और भाभी इस दिन का इंतजार तो मुझे पिछले 10 सालों से था। फिर मैंने लंड को उनकी गांड के मुहं पर रख दिया और होल में उंगली करके पूरे दम से लंड डाल दिया और मेरा लंड इतने जोश में था कि पहली ही बार में मैंने उनकी गांड फाड़ दी वो बहुत ज़ोर से चिल्लाई.. लेकिन मैंने उन्हें नहीं चोदा क्योंकि उनकी गांड में ही मेरी जान थी और मैं पूरे जोश से धमाधम लंड डालता गया और आख़िर उनकी गांड में मेरे लंड ने पानी छोड़ दिया और वो दर्द से करहाने लगी.. मैं उन्हे प्यार करने लगा.. उनके बूब्स मसलने और दबाने लगा।

फिर मैं उनके बूब्स पीने लगा और तभी कुछ देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया और मैंने उनकी एक बार फिर से चुदाई की और हम थककर ऐसे ही सो गए।

बड़ी भाभी की चुत और गांड की चुदाई कहानी कैसी लगी comment बॉक्स में अपनी राय दें जिससे कहानी लिखने में मदद मिलेगी.

धन्यवाद …

Leave a Reply

%d bloggers like this: