हिरोईन बनने के लिए तीन-तीन लण्ड लिया -Heroin Fuck story || Read & Pdf free..

हिरोईन बनने के लिए तीन-तीन लण्ड लिया कहानी: हिरोईन बनने का रास्ता प्रोड्यूसर या डाइरेक्टर या हीरो या फिर तीनों के बेडरूम से ही गुजरता है. एक लड़की हिरोइन बनने गाँव से अपनी मम्मी के साथ मुंबई आई थी. उसने अपने फोटो खिंचवाए और एक स्टूडियो से दूसरे स्टूडियो काम के लिए भटकने लगी. Heroin Fuck story

उस दौरान उसकी मुलाकात एक मशहूर हीरो से हो गई, तो उस हीरो ने आश्वासन दिया कि वो कुछ करेगा. फिर उसने लड़की को रात को 9 बजे अकेले अपने घर बुला लिया, तो वो लड़की वहाँ गई. फिर वो हीरो उस लड़की को अपने बेडरूम में ले गया और फिर बोला कि हज़ारो लड़कियाँ हिरोइन बनने मुंबई आती है, तुममे ऐसी क्या खास बात है? जो तुम हिरोइन बन सकती हो.

फिर लड़की बोली कि में कुछ भी करने को तैयार हूँ सर, तो हीरो बोला कि कुछ भी. फिर लड़की बोली कि यस सर कुछ भी, तो हीरो बोला कि ठीक है में जैसा बोलता हूँ वैसे करो, अपने सारे कपड़े उतारकर ज़मीन पर अपने घुटनों पर बैठ जाओ, तो उसने अपने सारे कड़े उतार दिए और अपने घुटनों पर बैठ गई.

फिर हीरो बोला कि अब मेरी पैंट उतारो, तो उसने हीरो की पैंट उतार दी. फिर वो बोला कि अब मेरी नेक्कर भी उतार दो और मेरा 8 इंच लंबा लंड अपने हाथ में लेकर 10 मिनट तक सहलाओ. फिर उसने लंड बाहर निकाला और 10 मिनट तक उसे सहलाती रही. फिर वो बोला कि मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर उसे चूसो, जैसे वो लॉलीपोप हो. लड़की ने लंड को चूसना शुरू किया और चूसती गई और चूसती गई और चूसती गई.

अब हीरो को मज़ा आ रहा था और उसे जन्नत की सैर हो रही थी. फिर वो 10 मिनट के बाद लड़की के मुँह में ही झड़ गया और उस लड़की को अपना सारा वीर्य पी जाने को कहा. अब हीरो बहुत खुश था और फिर उसने लड़की को एक डाइरेक्टर के नाम चिट्टी लिख दी और कहा कि तुम अच्छा लंड चूसती हो, बस यही तो करना है लंड चूसो रोल तुम्हारा.

फिर वो लड़की उस डाइरेक्टर के पास अपनी मम्मी के साथ गई, तो डाइरेक्टर ने चिट्टी पढ़ी और बोला कि हीरो ने भेजा है तो एक मौका तो तुम्हें देना ही होगा, क्या तुम्हें एक्टिंग आती है? तो लड़की बोली कि यस सर, में बहुत अच्छी एक्टिंग कर लेती हूँ. फिर डाइरेक्टर ने लड़की की माँ को बाहर बैठाया और लड़की को एक खूबसूरत रूम में ले गया और लड़की से पूछा कि क्या कभी एक्टिंग स्कूल में गई हो? तो लड़की बोली कि नहीं सर.

फिर डाइरेक्टर बोला कि मेरी जो नयी फिल्म है, उसमें एक पत्नी का रोल है, वो रोल में आपको दे सकता हूँ, लेकिन मुझे एक अच्छी हिरोइन की तलाश है. लड़की बोली कि में पूरी मेहनत से काम करुँगी. फिर डाइरेक्टर बोला कि लेकिन क्या आप पत्नी का रोल निभा पाएगी? तो लड़की बोली कि वाइ नोट सर, चाहिए तो अभी आजमा कर देख लो.

Read More Stories : परिवार में चुदाई की कहानी 

फिर डाइरेक्टर बोला कि ठीक है और यह कहते ही उसने उस लड़की को एक साड़ी और ब्लाउज दिया और पहनने को कहा, तो वो लड़की साड़ी और ब्लाउज पहनकर आ गई. फिर डाइरेक्टर बोला कि ऐसा है आज तुम्हारी सुहागरात है और में तुम्हारा पति हूँ और तुम पलंग पर जाकर नयी नवेली दुल्हन के जैसे बैठ जाओ. में आऊंगा और तुम्हारा घूँघट उठाऊंगा और फिर तुम्हारी साड़ी उतारूंगा. फिर तुम्हारा ब्लाउज खोलूँगा और फिर तुम्हारी पेंटी निकालूँगा और फिर तुम मेरे कपड़े उतारोगी और फिर में तुम्हें चोदूंगा, तो उस लड़की ने चुपचाप ऐसे ही किया. Heroin Fuck story

फिर डाइरेक्टर ने लड़की का घूँघट उठाया और धीरे-धीरे लड़की के ब्लाउज के बटनों को खोलने लगा. जब लड़की ने सफ़ेद ब्रा पहनी थी. फिर उसने लड़की के ब्रा के हुक खोले और उसकी ब्रा खुलते ही उसके बड़े-बड़े, गोरे-गोरे बूब्स डाइरेक्टर की फटी आँखों के सामने थे. फिर डाइरेक्टर ने उसकी साड़ी उतार दी और उसकी पेंटी भी उतार दी.

यह कहानी आप HotSexyStories.in में पढ़ रहें हैं।

 

फिर लड़की ने डाइरेक्टर के सारे कपड़े उतार दिए, अब वो अपना लंड लड़की की चूत में घुसाने ही वाला था कि तभी लड़की ने उसे रोक दिया और बोली कि सर में बिल्कुल कुंवारी हूँ और आज तक किसी मर्द का लंड मेरी चूत में नहीं गया है. फिर डाइरेक्टर बोला कि कोई बात नहीं, में तुम्हारा कुंवारापन तोडूंगा और तुम्हें कच्ची कली से फूल बना दूंगा और फिर उसने अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया तो लड़की की मुँह से चीख निकल गई. फिर डाइरेक्टर ने लड़की को 20 मिनट तक खूब चोदा और फिर उसने एक प्रोड्यूसर के नाम एक चिट्टी लिखकर दी.

फिर दूसरे दिन वो उस प्रोड्यूसर के पास गई और वो प्रोड्यूसर में ही था, तो मैंने वो चिट्टी पढ़ी और फिर उस लड़की को अपने बेडरूम में ले गया और फिर मैंने उस लड़की को चलकर दिखाने को कहा, क्या बूब्स थे? क्या बड़ी गांड थी? मेरा मन तो किया कि अभी उसके सारे कपड़े फाड़ दूँ और उसको खड़े-खड़े ही चोद दूँ.

फिर मैंने उससे पूछा कि में तुम्हें अपनी फिल्म में क्यों लूँ? तुम पर पैसा क्यों लगाऊँ? तुम में ऐसा क्या ख़ास है? मेरी फिल्म में काम करके तुम तो हिरोइन बन जाओगी, लेकिन मुझे क्या मिलेगा? मुझे आशा है कि तुम मेरा इशारा किस तरफ है? समझ गई होगी. फिर लड़की बोली कि समझ गई सर और यह बोलते ही अपने सारे कपड़े उतारने लगी और सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में खड़ी हो गई. फिर में बोला कि वहाँ क्यों खड़ी हो? यहाँ आ जाओ और मेरी गोद में बैठ जाओ.

फिर वो आकर मेरी गोद में बैठ गई और बोली कि आप ही मेरे हीरो हो सर, आप जैसा कहेगें वैसा ही करुँगी. आप बोलो तो आपका लंड चूसूंगी. आप मेरे बूब्स को जितनी देर तक चाहो अपने मुँह में रखकर चूस सकते है और आप मेरी चूत में भी चोद सकते है. में गांड से भी कुंवारी हूँ और आप मेरी गांड भी चोद सकते है. आप मेरे दोनों बूब्स के बीच में भी चोद सकते है और आप मेरे साथ 69 पोजिशन भी कर सकते है. आप पीछे से भी मेरी चूत और गांड दोनों मार सकते हो और ठीक मैंने वैसा ही किया और अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया तो वो उसे मज़े से चूसने लगी.

फिर मैंने वो सब किया जो उसने कहा था और उसे सब जगह से चोदा. बस फिर क्या था? वो एक मशहूर फिल्म हिरोइन बन गई. अब में आज भी नयी नयी हिरोइन को चान्स देता हूँ.

आप हमारे official Telegram Channel चैनल से जुड़े ….  

 

Download Pdf File -Heroin banane ke liye teen se chudi

heroin fuck story pdf

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: