कड़ाके की सर्दी में मैडम ने मुँह में लिया-3 (Kadake Ki Shardi Me Madam Ne…)

Kadake Ki Shardi Me Madam Ne Muh Me LIya-3

hoty

मैडम की मोटी मोटी जांघें नारियल के तने के जैसे लग रही थी।ऊपर से उनका भरा पूरा जिस्म मेरे लन्ड में आग लगा रहा था।मैडम के मादक जिस्म के नीचे उनकी बड़ी सी चूत मेरे लन्ड को उकसा रही थी। मैडम की चूत बिल्कुल चिकनी,साफ सुथरी थी। शायद मैडम ने कल ही चूत की फसल को काटा होगा।

अब मैंने तुरंत ही मैडम की चिकनी चूत में दो तीन उंगलियों एक साथ पेल दी।मेरी उंगलियां आसानी से मैडम की चूत में समा गई। अब मैं मैडम की चूत को कुरेदने लगा।मुझे मैडम की गर्म चूत को सहलाने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।धीरे धीरे मेडम की गांड फटने लगी।

मैडम– आह आह आह ओह आह आह आह ओह आह आह आह्ह।

मैडम बैचेन होकर मेरे सिर के बालों को नोचने लगी।वो धीरे धीरे पागल सी होने लगी। अब मै धीरे धीरे मेरी उंगलियों की स्पीड बढ़ाने लगा।

मैडम– आईईईई आईईईई ओह आह आह ऊंह आईईईई सिसिसिस्स मर गई।

अब मेरी उंगलियां मैडम की चूत के दाने को रगड़ रही थी। अब मैडम मदहोश होकर उंगलियों के नाखूनों को मेरी पीठ पर चुभाने लगी।

मैडम– आईईईई आईईईई ओह आह आह ऊंह थोड़ा धीरे करो मेरे राजा। बहुत दर्द हो रहा है।

मैं– दर्द में ही मज़ा है मेरी रानी।

मैडम– ओह ओह ओह ऊंह आह थोड़ा सा तो रहम कर तेरी रानी पर।

मैं– आह आह आह अभी तो राजा रानी पर कोई रहम नहीं कर सकता है। आह आह मज़ा आ गया मैडम आपकी चूत को सहलाने में। आह आह ओह।

मैडम– बस करो मेरे राजा। आह आह ओह ऊंह आह ओह।

लेकिन मै आज कहां मानने वाला था। मैं तो लगातार मैडम की चूत को कुरेद रहा था।मैडम दर्द भरी सिसकारियां ले रही थी।

अब मैंने मैडम को पलट दिया जिससे मैडम की मोटी गांड़ और चिकनी पीठ मेरे लन्ड के सामने आ गई। अब मैं भी अंडरवियर खोलकर पूरा नंगा हो गया।मेरा लन्ड कड़क सर्दी में भी आग उगलता हुआ बाहर निकला। आह मैडम के क्या शानदार गोल गोल कसे हुए चूतड़ थे,गजब के। मज़ा आ गया था यारो। अब मैं मैडम के मस्त चूतड़ों को सहलाने लगा। मैं कभी चूतड़ों पर हाथ फेरता तो कभी चूतड़ों को मसल देता।

अजब गजब नज़ारा था यारो जिस मैडम ने कभी मुझे बचपन में पढ़ाया था आज उसकी मैडम को मै नंगी करके उनकी मस्त गांड़ को सहला रहा था।मैडम बोर्ड को पकड़कर चुपचाप खड़ी थी।और मै मैडम के पीछे खड़े होकर उनकी गांड़ को रगड़ रहा था।

अब मैं नीचे बैठ गया और मैडम के मस्त चूतड़ों को दबा कर चूमने लगा।मैडम मादक सिसकारियां भरने लगी।मुझे मैडम के चूतड़ों को चूमने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था। मैं मस्त में डूबकर मैडम के चूतड़ों को थूक से गीला किए जा रहा था।चूतड़ों को अच्छी तरह से चूमने के बाद अब मैंने मैडम की गांड़ के हॉल में उंगली घुसा दी।उंगली गांड़ के सुराख में घुसते ही मैडम एकदम से सिहर उठी।खैर मेरी उंगली आसानी से मैडम के छेद में घुस गई। मैं समझ चुका था कि मैडम पहले से ही गांड़ में लंड डलवा चुकी है। मैं थोड़ी देर तक मैडम की गांड़ को उंगली से चोदता रहा। Kadake Ki Shardi Me Madam Ne Muh Me LIya-3

अब मैं खड़ा हो गया और मैडम को पीछे से अच्छे से दबोच लिया। अब मैं गर्दन पर से मैडम के बालो को हटाकर किस करने लगा और आगे से मैडम के बड़े बड़े बूब्स को दबाने लगा।इधर मेरा लन्ड मैडम की गांड़ में बुरी तरह से सट चुका था।मैडम चारो तरफ से मेरे जाल में फंस चुकी थी। मैं उन्हें बुरी तरह से रगड़ रहा था। अब मैडम की गांड फटकर हाथ में आ चुकी थी।वो चुपचाप खड़ी होकर मेरे लन्ड का कहर सहन कर रही थी। अब मैं मैडम के कानों को खाने लगा।मैडम बुरी तरह से सिहर उठी।

मैडम– ऊंह ओह ओह ओह ऊंह ऊंह ऊंह आह ओह।बस करो रोहित।

मैं– आह आह ओह बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा है मैडम।आह आह आज तो मैं आपकी गांड़ फाड़ दूंगा।

मैं लगातार मैडम के कानों को चूम रहा था।इधर मेरा लन्ड मैडम की गांड को रगड़ रहा था। अब मेरे हाथ मैडम के बूब्स पर से हटकर मैडम की गरमा गर्म चूत की सैर करने लग गए थे।

मैडम– आईई आईईईई ओह ओह ऊंह। क्यो इतना तड़पा रहा है यार।डाल दे अब तो तेरा लंड।

मैं– डालूंगा मेरी रानी। थोड़ा सा तो सब्र रख।पहले तेरी मादक जिस्म की अच्छी तरह से नुमाइश तो  करने दे।

मैडम– तू तो आज मेरी जान ही निकाल कर रहेगा।

अब मैं मैडम की मस्त भरी हुई पीठ को किस करने लगा। मैं मैडम की पीठ का अच्छी तरह से रस लेने लगा। थोड़ी सी देर में मैंने मैडम की पीठ को पूरी गीली कर डाला। अब मैंने मैडम को पलटकर मेरी तरफ घुमा लिया। तभी मैंने उनके होंठों को अपने होंठो में फंसा लिया और उनकी चूत को बुरी तरह से सहलाने लगा। मैडम चू चू चू चू करने लगी लेकिन होंठ दबे हुए होने से वो कुछ नहीं बोल पा रही थी। मैं बुरी तरह से उनकी चूत को चोद रहा था। अब मैडम का जिस्म कांपने लगा। मैं समझ गया कि अब मैडम फ़ैल होने वाली है।

कुछ ही पलों में मैडम की मशीन ने गरमा गर्म रस बाहर उड़ेल दिया।मै मैडम की चूत को कुरेदता रहा।मैडम की मशीन रस बाहर उड़ेलती रही। थोड़ी सी देर में सारा रस नीचे फर्श पर फ़ैल गया।मैडम कड़क सर्दी में पसीने में लथपथ हो चुकी थी। अब मैं नीचे बैठ गया और मैडम के टपकते हुए रस को चाटने लगा।मैडम ने मुझे कसकर चूत में दबा लिया।थोड़ी ही देर में मैंने मैडम की चूत को चाटकर साफ़ कर डाला। अब मैं मैडम की मोटी मोटी जांघो को चूमने लगा।आह इतनी शानदार जांघें,मेरा तो लंड हिचकोले खाने लग गया था।फिर मैंने मैडम की जांघो को अच्छी तरह से चूमा।

अब मैं मैडम की चूत में लंड ठोकने वाला था लेकिन बेंच पर ओस जमी हुई थी और फर्श बहुत ज्यादा ठंडा हो रहा था। फिर मैंने मैडम की पैंटी और मेरी अंडरवियर से बेंच को अच्छी तरह से पौंछ दिया।फिर भी मैडम की बेंच पर लेटने में गांड़ फट रही थी।

मैडम– यार रोहित,खड़े खड़े डाल दे ना।

मैं– मैडम खड़े खड़े डालने में मज़ा नहीं आता है।

मैडम– अरे यार इतनी खतरनाक सर्दी को भी आज ही पड़ना था।

फिर मैडम कांपती हुई बेंच पर लेट गई।

यह कहानी आप HotSexyStories.in में पढ़ रहें हैं।

मैडम– बहुत सर्दी लग रही है यार।

मैं– कोई बात नहीं मैडम। अभी मै आपको फुल गर्म कर दूंगा।

अब मैं मैडम के मादक जिस्म पर चढ गया और उनके जिस्म को रगड़ने लगा।थोड़ी ही देर में मेडम फिर से गर्म होने लगी।

मैडम– आह आह आह ऊंह आह आह बहुत मज़ा आ रहा है आह आह आह ऊंह।

मैं– ओह आह आह मैडम,आज तो मैं आपकी चूत का भोसड़ा बना दूंगा।

थोड़ी ही देर में मैंने मैडम के पूरे जिस्म को रौंद डाला। अब मैंने मैडम की दोनो टांगो को कंधो पर रख लिया और फिर मैडम की जांघो को पकड़कर ज़ोरदार शॉट के साथ पूरा का पूरा लन्ड मैडम की चूत में फोड़ दिया।मैडम की चूत में लंड ठूकते ही मैडम सिहर उठी।वो धीरे से चिल्ला उठी।

मैडम– आईईईई।

अब मैं मैडम की जांघो को पकड़कर भूखे कुत्ते की तरह मैडम को चोदने लगा।मैडम दर्द से तड़प उठी।मुझे मैडम को चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आ रहा था।हालांकि मैडम बहुत ज्यादा अनुभवी थी लेकिन मेरे लन्ड के आगे उनका सारा अनुभव धरा का धरा रह गया था। मेरा लन्ड उनकी चूत के पाताल लोक तक प्रहार कर रहा था।

मैडम– आईईईई आईईईई ओह आईईईई ऊंह आह आह ओह।

मैं खचाखच मैडम को चोदे जा रहा था।मैडम भी गांड़ उठा उठाकर मेरे लन्ड को चूत में ठुकवा रही थी।

मैं– आह आह ओह मैडम,आपकी ये चूत।मज़ा आ रहा है चोदने में।आह आह आह आह ।

मैडम– आह आह आह ऊंह ओह मेरे राजा चोद ले तेरी रानी को जितना चोदना चाहे।आह आह ।

मेरा पूरा लंड मैडम की चूत में समा रहा था। हर एक धक्के के साथ मैडम के बूब्स ज़ोर ज़ोर से हिल रहे थे।

मैं– ओह मेरी रानी आज तो तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा।

मैडम– तो बना दे मेरे राजा।आह आह आह और ज़ोर ज़ोर से चोद ।आह आह आह।क्या मस्त लौड़ा है तेरा।

अब मैंने मैडम की जांघो को छोड़ा और मैडम के बड़े बड़े बूब्स को पकड़कर चोदने लगा। अब मैडम चुदाई के समुन्द्र में गोते लगाने लगी।

मैडम– आह आह आह ओह आह और चोदो ना मेरे राजा।आह आह ज़ोर ज़ोर से चोदो ना।

मैं– हां मेरी रानी। ले और घुसा लेे तेरी चूत में।आह आह आह।

अब मैंने थोड़ा सा ब्रेक लगाकर ज़ोरदार शॉट जा लगाया। मैडम ज़ोर से चिल्ला उठी।

मैडम– आईईईई मर गई। इतना दर्द मत दे मेरे राजा।नहीं तो मै मर जाऊंगी।

कहानी जारी है………………………

आपको मेरी ये कहानी कैसी लगी

Leave a Reply

%d bloggers like this: