कॉलेज में लेज़बियन लड़कियों ने की रैगिंग, Lesbian Collage Ragging 1

Lesbian Collage Ragging 1 | कुछ सीनियर छात्र सभी जूनियर छात्रों का परिचय ले रही थी और मेरी टॉप का जिप खोल कर उतार दिया, मेरी हाफ कप वाली ब्रा जो निप्पल…  Ragging ki lust story

मैं आपकी दोस्त यास्मिन एक बार फिर अपनी सच्ची आपबीती को आपके सामने लिख रही हूँ, जिस प्रकार मेरी पहली अनुभव को आप लोगों का प्यार और स्नेह मिला, बहुत सारे दोस्तों ने मुझे अपनी राय और सलाह भी मेल किया, कई दोस्तों ने तो मेरे साथ अपनी वासना शान्ता करने के लिये मेरे साथ यौन संबंध बनाने की इच्छा भी जाहिर की, मेरा फोन नम्बर और पता भी मांगा।  Lesbian Collage Ragging part 1…

माफी चाहती हूँ दोस्तों, मैं आप सभी चाहने वालों के मेल का जवाब अलग-अलग नहीं दे सकती हूँ और ना ही मैं आप लोगों से शारीरिक संबंध बना सकती हूँ, दोस्तों, मैं एक आम लड़की हूँ, मैं अपना कौमार्य और नारीत्व को अपने भावी पति के लिये सम्भाल कर रखना चाहती हूँ।

मैं आशा करती हूँ कि मेरी पिछली कहानी की तरह ही मेरे इस अनुभव को भी आपका प्यार और स्नेह मिलेगा।

दोस्तो, होने पर किसी का वश नहीं होता है, वह तो होकर ही रहती है, मेरी पिछली कहानी एक हादसा ही था जिसकी वासनात्मक लहर मेरी जिन्दगी को झकझोर कर रख दिया, तब से मैंने कभी सुनसान में अकेले आने-जाने की हिम्मत नहीं की।

ग्रीष्म अवकाश के बाद अगली कक्षा में गई तो पिछले वर्ष हुई घटना मेरी स्कूल में ब्रेकिंग न्यूज बनी हुई थी, हर कोई सिर्फ वासना की दृष्टि से देखता था, हर किसी की नजर मेरी कपड़ों को तार-तार कर मेरी निर्वस्त्र बदन को भोगने की ही खुराक में घूरती रहती थी, लड़के तो लड़के लड़कियाँ भी मेरी जवानी पर फिकरे कसने लगे थे।

बड़ी मुश्किल से मैंने गयारहवीं कक्षा उत्तीर्ण की और वह स्कूल छोड़ दिया, बारहवीं की पढ़ाई के लिये दूसरे स्कूल में प्रवेश ले लिया। अब मेरे दोनों यौन कलशों का आकार भी बढ़ गया है.

मेरे स्तन अब उम्र के साथ-साथ और विकासित होकर 34डी आकार के हो गए हैं, मेरी फिगर अब 34-28-34 हो गई है, उम्र के साथ-साथ मेरा यौवन और निखर आया है, अब मैं अपने आप को आईने में देख कर शरमा सी जाती हूँ, मेरी जवानी को अब मेरे पोशाक नहीं छुपा पा रही है।

हमारे  official Telegram Channel चैनल से जुड़े ….

यह घटना मेरी बारहवीं प्रवेश के बाद छठे दिन की है, उस दिन शनिवार था, स्कूल के शुरूआती दिन होने के कारण अध्यापक एडमशिन कार्य में व्यस्त थे, इसलिये पढ़ाई ठीक से नहीं हो रही थी, मैंने लन्च-ब्रेक में ही घर जाने की सोचकर अपनी सहेली मेघा को बुलाने उसकी क्ला‍स में चली गई, वह विज्ञान पढ़ रही है इसलिये उसकी क्लास अलग से लगती है।

जब मैं उनके क्लास रूम में गई तो जूही और 5-6 सीनियर छात्र सभी जूनियर छात्रों का परिचय ले रही थी, सभी जूनियर कतार से खड़ी होकर अपना परिचय दे रही थी।

जब मैं क्लास रूम में दाखिल हुई तो जूही ने पूछा- तुम कौन सी क्लास की हो?

मैं- जी मैं बारहवीं में ही हूँ, आर्ट्स की छात्रा हूँ।

जूही- ओह.. क्या नाम है तुम्हारा?

मैं- यासमीन पटेल !

जूही- तुम आर्टस् की छात्रा हो तो यहाँ क्या करने आई हो?

मैं- जी, मेरी सहेली इस क्लास में है।

जूही ने कहा- चल बोर्ड के सामने बेंच पर खड़ी हो जा।

मैंने जूही और उसके ग्रुप का नाम सुना था, मैं उनको जानती थी, वे उस स्कूल की सबसे बदनाम और अय्याश किस्म की लड़कियां हैं,

मैं चुपचाप जा कर बेन्च पर खड़ी हो गई।

जूही की सहेली नीता ने मेरे पास आकर मुझे इस नजर से देखा कि मैं लजा गई, मैंने उस दिन यूनिफार्म नहीं पहनी थी, उस दिन गुलाबी रंग की मिनी स्कर्ट और टॉप पहनी थी, मेरी छोटी सी स्‍कर्ट मेरी जांघों को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी, उसकी नजरें मेरे कपड़ों को चीरते हुऐ तन-बदन को सहलाने लगी, मैं शर्म के मारे सिहर गई।

दोस्तो, उसकी नजरों में कितनी वासना थी यह तो मैं और मेरा मन जानता है, मैंने जालीदार खुली बाजू वाला, गहरे गले की पतला सा सफेद रंग का टाप पहना था, जो मेरी नाभि के ऊपर से एकदम चुस्ती से मेरे स्तनों को उभार रहा था।

नीता ने मेरी एक स्तन को दबा दिया और बोली- दिखाने का इतना ही शौक है तो इसे भी क्यूं पहने है?

मैं डर के मारे चुपचाप खड़ी रही, तभी जूही ने मेरी दूसरे स्तन को जोर से दबाते हुए पूछा- जवाब क्यूं नहीं देती है? क्या साइज है तेरे फिगर का?

मैं उसके स्पर्श से कांप उठी, मेरे होटों से न चाहते हुए भी ‘आअअअ’ निकल गई।

मैं- जी 34-28-34 है।

फिर जूही की दूसरी सहेली रानी ने आकर मेरी टॉप का जिप खोल कर उतार दिया, मेरी हाफ कप वाली ब्रा जो मेरी निप्पल के घेरे से थोड़ी ही बड़ी थी, जिसमें मेरी दोनों यौन कलश आधे से ज्यादा बाहर थे, वह मेरी ब्रा के ऊपर से ही निप्पल को मसलने लगी, मेरा तन सुलगने लगा था, उसके हाथों का जादू मेरे तन-बदन को बहकाने लगा था, मैं शर्म के मारे किसी से भी नजरें नहीं मिला पा रही थी, पूरी क्लास के सामने मेरे स्तनों को आटे की तरह मसला जा रहा था।  Lesbian Collage Ragging part 1…

कविता और सविता की लेज़बियन कहानी,                         दोस्त से मिलकर माँ को चोदा  

आगे की कहानी अगले भाग में पढ़ें….

Leave a Reply

%d bloggers like this: