Neha Mere Lund Ka Gulam Bani – नेहा मेरे लंड का गुलाम बनी-2 | Sex Kahani

नेहा मेरे लंड का गुलाम बनी-2 मैंने उसकी चूत को ऊपर से नीचे तक अपनी जीभ से बहुत अच्छी तरह से चाटा और एक बार फिर से चूसना शुरू कर दिया, जिसकी वजह से वो जोश में आकर सिसकियाँ लेने लगी थी और अपने हाथ से खुद ही अपने बूब्स को दबाने लगी थी, वो अब तक बहुत गरम हो गई थी.

मैंने सही मौका देखकर तुरंत अपनी एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया और फिर धीरे धीरे ऊँगली को चूत के अंदर बाहर करने लगा और उसके साथ साथ में उसकी चूत को भी चूस रहा था और जोश में आकर वो अपनी कमर को हिला हिलाकर उंगली को और भी अंदर लेने लगी थी. अब में अपनी पूरी जीभ को अंदर तक घुसाकर चूत को चाटने चूसने लगा था, वो अब और भी जोश में आकर मुझसे बोलने लगी कि हाँ चूसो अमन और ज़ोर से चूसो आह्ह्ह्हह्ह्हह मेरी चूत का आज तुम पूरा पानी निकल दो उफ्फ्फ्फ्फ्फ स्ईईईईईई हाँ पी जाओ तुम आज मेरी चूत को आईईईईई.

दोस्तों करीब 15 मिनट मेरे चूसने के बाद वो झड़ गई और उसकी चूत से निकला वो गरम नमकीन पानी में चाट गया, वो मुझे चेहरे से बहुत संतुष्ट लग रही थी, लेकिन फिर मेरे कुछ बोलने से पहले उसने मेरी पेंट को खोल दिया और फिर उसने मेरे लंड को बाहर निकालकर देखा और अब वो बहुत खुश होकर मुझसे बोली कि तुम्हारा लंड तो बड़ा ही मस्त है, यह करीब 7 इंच का है.

तुरंत मैंने उससे बोला कि हाँ अब तुम इसको भी शांत कर दो, तो उसने मेरे मुहं से यह बात सुनकर झट से मेरा लंड अपने मुहं में लिया और चूसने लगी. दोस्तों उसने वाह क्या मस्त लंड चूसा. करीब 15 मिनट तक लंड चूसने के बाद मैंने उसको लेटा दिया और लंड को चूत के मुहं पर घिसने लगा, जिसकी वजह से वो सिसकियाँ लेने लगी और वो मुझसे बोली कि उफ्फ्फ्फ़ आह्ह्हह्ह तुम यह क्या कर रहे हो? प्लीज़ तुम इसे मेरी चूत के अंदर मत डालना, तुमने मुझसे यह सब ना करने का वादा किया था.

फिर मैंने उससे कह दिया कि हाँ ठीक है, जब तक तुम मुझसे नहीं कहोगी में अपना लंड तुम्हारी चूत के अंदर नहीं डालूँगा, लेकिन बस मुझे ऊपर ऊपर ही घिसने दो. फिर वो मेरी यह बात मान गयी और वो खुद मेरा लंड अपने एक हाथ से पकड़कर अपनी चूत के मुहं के ऊपर घिसने लगी उसकी चूत अब तक बहुत गरम हो गयी थी और वो पानी से पूरी गीली भी थी, जिसकी वजह से मेरा लंड उसकी चूत पर बड़ी आसानी से फिसल रहा था और अब वो ज़ोर ज़ोर से मेरे लंड को अपनी चूत पर रगड़ रही थी और ऊपर नीचे करते करते लंड कई बार उसके छेद में अटक भी जाता.

फिर वो उसको अपनी चूत के दाने पर भी रगड़ती रही, लेकिन कुछ देर यह सब करने के बाद अचानक से उसने मेरे लंड को अपनी चूत के छेद पर रख दिया और थोड़ा सा धक्का देते हुए लंड का टोपा अंदर दबाया और फिर वो मुझसे बोली कि प्लीज अमन चोदो मुझे. अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ प्लीज थोड़ा जल्दी करो आह्ह्ह्ह.

दोस्तों में तो कब से इस काम को करने के इंतज़ार में था फिर मैंने अब उसकी तरफ से हाँ का जवाब सुनते ही पूरी तरह से जोश में आकर एक ही झटके में अपना पूरा का पूरा लंड उसकी प्यासी चूत के अंदर डाल दिया, वो हल्का सा चीखी, लेकिन उसने अपनी आवाज़ पर कंट्रोल कर लिया था और फिर मैंने धनाधन अपना लंड अंदर बाहर करना शुरू कर दिया था. में उस समय बहुत जोश में था क्योंकि मैंने बहुत देर तक इंतजार किया था और अब वो मुझसे चुदते हुई बोली कि वाह अमन मज़ा आ गया उफ्फ्फ्फ़ तुमने मेरी चूत को बहुत अच्छा चूसा आह्ह और अब शायद तुम मेरी चुदाई भी बहुत अच्छी करोगे.

मैंने आज करीब 7 महीने बाद किसी का लंड अपनी चूत के अंदर लिया है आह्ह्ह्हह्ह मेरे बॉयफ्रेंड का लंड तुम्हारे लंड से बहुत छोटा था. तुम ने तो आज मुझे वो मज़ा दिला दिया है जिसके लिए में अब तक तरस रही थी उफ्फ् हाँ चोदो मुझे आहह्ह्ह्ह और ज़ोर से चोदो. दोस्तों अब चुदाई के दौरान उसकी चूत बहुत पानी छोड़ रही थी, जिसकी वजह से मेरा लंड बहुत आराम से अंदर बाहर फिसलता हुआ जा रहा था. फिर मैंने महसूस किया कि उसकी चूत हल्की सी टाईट थी, लेकिन चूसने से वो पानी पानी हो गई थी, जिसकी वजह से लंड अब बहुत आसानी से अंदर बाहर हो रहा था.

यह कहानी आप HotSexyStories.in में पढ़ रहें हैं।

फिर करीब दस मिनट की चुदाई के बाद वो झड़ गयी और अब मेरा भी पानी निकलने वाला था. मैंने उससे पूछा कि में अब अपना वीर्य कहाँ निकालूं? तो उसने मुझसे कहा कि तुम मुझे पीछे से डॉगी स्टाईल में अपना लंड डालकर मुझे चोदो और मेरी गांड पर अपना पानी निकाल दो.

फिर मैंने उसके कहने पर तुरंत उसको पलटकर घोड़ी बना दिया और फिर में उसको पीछे से लंड डालकर चोदने लगा. करीब तीन चार मिनट के बाद मेरा वीर्य निकल गया तो मैंने तुरंत अपना लंड बाहर खींचकर उसकी गांड के ऊपर वीर्य को निकाल दिया और फिर गांड पर लंड को रगड़ने लगा.

वो मुझसे बोली कि वाह मज़ा आ गया, तुमने तो मुझे आज बहुत सालों बाद पूरी तरह से संतुष्ट कर दिया है. तुमने मुझे आज चोदकर बहुत खुश कर दिया है, में मानती हूँ कि तुम्हे चुदाई करने का बहुत अच्छा अनुभव है, तुमने जो सुख आज मुझे दिया है में उसके लिए बहुत समय से तरस रही थी. तुम्हारे साथ चुदाई करके मुझे आज मज़ा आ गया वाहहह तुम बहुत अच्छे हो और आज के बाद से तुम मुझे जैसे चाहो जब चाहो चोद सकते हो. आज से मेरा यह जिस्म तुम्हारे लंड का गुलाम बनकर रह गया है. दोस्त उस दिन के बाद लगभग मैंने तीन महीने में उसको करीब 8 बार अलग अलग तरह से हर एक स्टाइल में चोदा और हर बार वो भी मुझे कुछ ज्यादा ही मज़ा देती थी और अब हम दोनों एक दूसरे के साथ बहुत जमकर चुदाई करते है और बहुत मज़े करते है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: